अमेरिका का Frontier बना दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर, जानें कौन है भारत का सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर


सुपरकंप्‍यूटर (supercomputer) यानी ऐसी मशीनें जिनका मुकाबला कोई नहीं कर सकता। अमेरिकी सुपरकंप्‍यूटर Frontier को दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर चुना गया है। यह पहला कंप्‍यूटर है, जो एक्सास्केल (exascale) के दायरे में आ गया है यानी यह एक सेकंड में क्विनटिलियन कैलकुलेशन कर सकता है। इतना फास्‍ट है, जिसकी सिर्फ कल्‍पना की जा सकती है। Frontier ने जापानी सुपरकंप्‍यूटर फुजित्सु को रिप्‍लेस करके यह पोजिशन हासिल की है।   

दुनिया के सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटरों की रैंकिंग को TOP500 कहा जाता है। 30 मई को इसका ऐलान हुआ, जिसमें अमेरिका के Frontier को दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर चुना गया। एक्सास्केल कंप्यूटिंग से उन साइंटिफ‍िक क्षेत्रों में कामयाबी मिलने की उम्‍मीद है, जहां बेहद जटिल गणनाएं सॉल्‍व करनी होती हैं। 

फ्रंटियर सुपरकंप्‍यूटर के प्रोजेक्‍ट डायरेक्‍टर जस्टिन व्हिट कहते हैं कि फ्रंटियर ने लगभग 1.1 एक्साफ्लॉप्स की स्‍पीड दिखाई। इस तरह इसने पिछले रिकॉर्ड धारक और जापान के फुगाकू नाम के सुपरकंप्यूटर को हरा दिया, जिसने 0.4 से ज्‍यादा एक्साफ्लॉप्स हासिल किए थे। हालांकि कुछ रिपोर्टों में बताया गया है कि कई चीनी सुपरकंप्यूटर पहले से ही एक्सास्केल परफॉर्मेंस हासिल कर रहे हैं, लेकिन अबतक उन्‍हें TOP500 रैंकिंग पर रिपोर्ट नहीं किया गया है।

लगभग तीन साल की मेहनत के बाद तैयार हुआ ‘फ्रंटियर’ इस साल के आखिर तक वैज्ञानिकों के इस्‍तेमाल के लिए तैयार हो जाएगा। इसकी क्षमता के जरिए वैज्ञानिकों को यह समझने में मदद मिलेगी कि तारों में कैसे विस्‍फोट होता है। कई और शोधों में भी इसकी कैलकुलेशन को इस्‍तेमाल किया जा सकेगा। यह सुपरकंप्‍यूटर एक सेकंड में करोड़ों कैलकुलेशन करने में सक्षम है। इसे तैयार करने में HP और AMD की भी भूमिका है। दोनों ही कंप्‍यूटर इंडस्‍ट्री के बड़े प्‍लेयर हैं। 

वहीं, बात करें भारत के सबसे शक्तिशाली सुपरकंप्‍यूटर की, तो इस साल की शुरुआत में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस (IISc) ने एक नया सुपर कंप्यूटर ‘परम प्रवेग’ (Param Pravega) इंस्‍टॉल किया है। इसे नेशनल सुपरकंप्यूटिंग मिशन (NSM) के तहत इंस्‍टॉल किया गया है। दावा है कि यह देश में अपनी तरह का सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्‍यूटर है। किसी अकैडमिक इंस्टिट्यूट में यह सबसे बड़ा सुपर कंप्यूटर है। IISc के परम प्रवेग में 3.3 पेटाफ्लॉप्स की सुपरकंप्यूटिंग कैपिसिटी है। 1 पेटाफ्लॉप, एक करोड़ शंख (quadrillion) ऑपरेशन प्रति सेकेंड के बराबर होता है। परम प्रवेग के कई कॉम्‍पोनेंट भारत में मैन्‍युफैक्‍चर और असेंबल किए गए हैं। 
 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: