इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग लगने से खलबली, Ola Electric ने वापस मंगवाए 1441 इलेक्ट्रिक स्कूटर्स


भारत में इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी ओला इलेक्ट्रिक (Ola Electric) ने रविवार को अपने 1,441 इलेक्ट्रिक स्कूटरों को वापस बुलाने का ऐलान किया है। कंपनी द्वारा यह कदम अपने एक वाहन में आग लगने के हफ्तों बाद लिया गया है। कंपनी अपने 1,441 इलेक्ट्रिक स्कूटर्स को वापस बुलाकर इस मामले की जांच करवाना चाहती है, जिससे यह साफ हो सके कि स्कूटर्स में आग लगने की आखिर वजह क्या है।
 

ईवी इंडस्ट्री में बड़ा झटका

रायटर्स के अनुसार, आपको बता दें कि भारतीय स्टार्ट-अप ओकिनावा (Okinawa) और प्योर ईवी (PureEV) के स्कूटर्स में भी आग में लगने की घटनाएं सामने आई हैं। ऐसे में कुछ लोगों का यह कहना है कि इस प्रकार की घटनाएं प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कार्बन कटौती और जलवायु सुरक्षा को लेकर की गई इस नई इंडस्ट्री के लिए यह एक शुरुआती झटका साबित हो सकती हैं। भारत ने बीते माह आग की जांच शुरू हुई और सभी मुद्दों को सुलझाने के लिए स्पेशल एक्सपर्ट की एक कमैटी की ऐलान किया।
 

Okinawa और PureEV भी वापस मंगा चुकीं अपनी यूनिट्स

आपको बता दें कि ओकिनावा ने इस महीने 3,215 वाहनों को वापस मंगवाया है। वहीं प्योर ईवी ने भी मार्केट से 2,000 यूनिट्स को वापस मंगवाया है।
 

खराबी की पहचान कर होगी स्कूटर्स की रिपेयरिंग

Ola Electric ने रविवार को एक स्टेटमेंट में बताया कि ‘हम उस खास बैच में तैयार हुए स्कूटर्स में खराबी की पहचान करते हुए हेल्थ चेकअप करेंगे। इसलिए 1,441 व्हीकल्स की रिपेयरिग और चेकिंग के लिए अपनी पसंद से रिकॉल जारी कर रहे हैं।’
 

2030 तक मार्केट में 80 प्रतिशत इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स बिक्री का आंकड़ा

भारत चाहता है कि इलेक्ट्रिक स्कूटर और मोटरबाइक व्हीलर्स 2030 तक कुल टू-व्हीलर्स की बिक्री का 80 प्रतिशत हिस्सा हासिल कर लें जो कि आज के समय में लगभग 2 प्रतिशत है। मोदी सरकार स्थानीय स्तर पर ईवी बनाने के लिए कंपनियों को अरबों डॉलर का प्रोत्साहन प्रदान कर रही है। Ola ने कहा कि उसने ईवी सेफ्टी पॉलिसी का समर्थन किया है और उसके एक व्हीकल में आग लगने की घटना की शुरुआती जांच से पता चलता है कि यह इस प्रकार की अकेली घटना थी।

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: