देखें कैसे ’10’ नंबर की शेप में दिखाई दे रही हैं 2 गैलेक्सी, NASA के टेलीस्कोप ने किया कैप्चर


अपनी 30 से अधिक वर्षों की सर्विस में, NASA के हबल स्पेस टेलीस्कोप (Hubble Space Telescope) ने पेचीदा ब्रह्मांडीय घटनाओं (कॉस्मिक इवेंट्स) के 13 लाख से अधिक अवलोकन किए हैं। इसने एक बार अपने प्राइम वर्किंग कैमरा – वाइड फील्ड प्लैनेटरी कैमरा 2 (WFPC2) का इस्तेमाल करते हुए, Arp 147 नाम के एक गुरुत्वाकर्षण द्वारा एक-दूसरे से आकर्षित हो रही दो आकाशगंगाओं को कैप्चर किया था। अब, NASA ने तस्वीर को फिर से इंस्टाग्राम पर शेयर किया गया है। तस्वीर दो आकाशगंगाओं को इस तरह से कैप्चर करती है कि वे संख्या ’10’ की शेप में दिखाई देती हैं। इसमें बाईं ओर की गैलेक्सी “1” की शेप बनाती है, जो स्टारलाइट की एक रिंग की तरह दिखाई देती है। वहीं, दाईं ओर वाली गैलेक्सी “0” की तरह दिखाई देती है।

नासा के हबल स्पेस टेलीस्कॉप ने इंस्टाग्राम पर तस्वीर को कैप्शन देते हुए लिखा (अनुवादित), “ARP 147 में आपका स्वागत है, एक इंटरैक्टिंग गैलेक्सी जोड़ी! इस हबल क्लासिक तस्वीर में सबसे बाईं ओर की आकाशगंगा हमारी दृष्टि रेखा के लगभग किनारे पर दिखाई देती है और इसमें स्टारलाइट की एक रिंग है। दायीं ओर की आकाशगंगा में इंटेंस स्टार फॉर्मेशन की एक नीली रिंग है।”
 

नासा की एक रिलीज़ में कहा गया है कि ARP 147 पृथ्वी से लगभग 440 मिलियन लाइट ईयर दूर नक्षत्र Cetus में है। इस तस्वीर को तीन अलग-अलग फिल्टर के साथ ली गई WFPC2 तस्वीरों से मिला कर तैयार किया गया था।

नासा के अनुसार, बाईं ओर की आकाशगंगा के दाईं ओर आकाशगंगा के जरिए गुज़रने के बाद नीले रंग की रिंग बन सकती है, ठीक उसी तरह जैसे तालाब में फेंका गया कंकड़ एक गोलाकार लहर पैदा करता है, जो बाहर की ओर जाती है। नीले रिंग के निचले बाएं कोने में धूल भरी लाल हिस्से को लेकर संभावना जताई गई है कि यह आकाशगंगा का प्रारंभिक न्यूक्लिअस हो सकता है।

हबल को नासा और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ESA) ने मिकलर तैयार किया है। ईएसए ने कहा कि यह तस्वीर अक्टूबर 2008 में ली गई थी, जब साइंस डेटा फॉर्मेटर में आई एक समस्या के चार हफ्ते बाद हबल को सेफ मोड में रख दिया गया था। उस समय, इस तस्वीर ने प्रदर्शित किया था कि हबल पर सवार कैमरा ठीक काम कर रहा था।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: