फोन चोरी हो जाने पर ऐसे करें बैंक डीटेल्स और मोबाइल वॉलेट की सुरक्षा


क्या आप जानते हैं कि चोर इन दिनों आपका मोबाइल फोन हथिया लेने के बाद सिर्फ एक ही चीज की तलाश में रहते हैं? आपकी बैंक डीटेल्स। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि अधिक से अधिक लोग आजकल डिजिटल भुगतान कर रहे हैं और अलग अलग ऐप्स का प्रयोग करते हैं। स्मार्टफोन चोरों के लिए इन वॉलेट तक पहुंचना इतना मुश्किल नहीं है। उदाहरण के लिए ब्राजील के साओ पाउलो में अपराधी कथित तौर पर iPhone हैंडसेट चोरी करने के बाद उन्हें बेचने के लिए नहीं बल्कि इन उपकरणों के मालिकों के बैंक डीटेल्स तक पहुंचने और उनके पैसे चोरी करने के लिए चुरा रहे थे।
इस तरह की घटनाओं के सामने आने के साथ ही सावधान रहना बहुत जरूरी हो जाता है। यदि आपका फोन खो जाता है तो इस स्थिति में आप नीचे दिए गए तरीकों से अपने फोन या उसके डेटा का गलत इस्तेमाल होने से रोक सकते हैं। 
 

Block your SIM card

अपने सिम कार्ड को ब्लॉक कर दें
सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण यह सुनिश्चित करना है कि फोन खो जाने पर फोन नंबर का दुरुपयोग न हो। सिम कार्ड को ब्लॉक करने का मतलब फोन पर हर उस ऐप को ब्लॉक करना है जिसे OTP के जरिए एक्सेस किया जा सकता है। आप हमेशा नए सिम कार्ड पर वही पुराना नंबर दोबारा जारी करवा सकते हैं। इसमें कुछ समय लग सकता है, लेकिन आपकी गोपनीयता और मोबाइल वॉलेट कहीं अधिक महत्वपूर्ण हैं।
 

Block access to mobile banking services

मोबाइल बैंकिंग सर्विसेज को बंद करवा दें
फोन चोर आपके बैंक डिटेल्स तक आसानी से पहुंच सकते हैं इसलिए बैंक सर्विसेज को उस समय बंद करवा देना बहुत जरूरी है। आपका सिम कार्ड और मोबाइल ऐप साथ-साथ चलते हैं, क्योंकि रजिस्टर्ड नंबर पर OTP के बिना कोई भी ट्रांसफर नहीं हो सकता है। मगर जैसे ही फोन खो जाता है या चोरी हो जाता है तो दोनों को ब्लॉक कर देना चाहिए।
 

Deactivate UPI payment

UPI पेमेंट को डीएक्टिवेट करें
जरा सी देरी आपको भारी पड़ सकती है। एक बार जब ऑनलाइन बैंकिंग सेवाओं तक पहुंच से आप फोन चोर को वंचित कर देते हैं तो चोर अन्य सुविधा जैसे UPI भुगतान के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश कर सकता है। इसलिए इस पर भी तुरंत ध्यान देने की आवश्यकता है। इसे जल्द से जल्द निष्क्रिय कर दें।
 

Block all mobile wallets

सभी मोबाइल वॉलेट्स को ब्लॉक कर दें
मोबाइल वॉलेट्स ने जीवन को बेहद आसान बना दिया है। मगर यदि आपका फोन गलत हाथों में पहुंच जाता है तो Google Pay और Paytm जैसे मोबाइल वॉलेट महंगे साबित हो सकते हैं। संबंधित ऐप के हेल्प डेस्क से संपर्क करें और सुनिश्चित करें कि जब तक आप किसी नए डिवाइस पर वॉलेट फिर से सेट नहीं करते हैं, तब तक किसी को एक्सेस नहीं दिया जाए।
 

Go to the police, file a report

पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाएं
एक बार जब आप ऊपर दिए गए सभी स्टेप्स को फॉलो कर लेते हैं तो अधिकारियो को भी आपके चोरी हुए डिवाइस के बारे में रिपोर्ट करना जरूरी होता है। आप नजदीकी पुलिस स्टेशन में फोन चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवा सकते हैं और एफआईआर की एक कॉपी भी उनसे ले लें। यदि आपके फोन का दुरूपयोग होता है या आपके फोन के द्वारा आपका पैसा चोरी हो जाता है तो यह कॉपी आपके लिए सबूत के तौर पर उपयोगी साबित होगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: