बेन स्टोक्स के टेस्ट कप्तान बनते ही बोर्ड ने दिया झटका, कहा- वनडे और टी20 कम खेलने को मिलेंगे


लंदन. बेन स्टोक्स (Ben Stokes) को गुरुवार को इंग्लैंड की टेस्ट टीम का कप्तान नियुक्त किया गया. मानसिक स्वास्थ्य कारणों से खेल से ब्रेक के बाद वापसी करने के कुछ माह के भीतर ही स्टोक्स को यह बेहद दबाव वाली जिम्मेदारी सौंपी गई है. यह ऑलराउंडर जो रूट की जगह लेगा, जिन्होंने 2 हफ्ते पहले पद छोड़ दिया था, क्योंकि इंग्लैंड की टीम अपने पिछले 17 टेस्ट मैच में से सिर्फ एक में ही जीत दर्ज कर पाई थी. रूट 5 साल तक इंग्लैंड के कप्तान रहे. यह रॉब की (Rob Key) का पहला बड़ा फैसला है. इंग्लैंड के पूर्व टेस्ट बल्लेबाज रॉब को हाल में इंग्लैंड में पुरुष क्रिकेट का प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया. उन्होंने उस समय जिम्मेदारी संभाली हैं, जब राष्ट्रीय टीम मुश्किल दौर से गुजर रही है और उसके पास मुख्य कोच तक नहीं है.

रॉब की ने कहा कि उन्हें यकीन है कि बेन स्टोक्स कप्तानी का बोझ उठाने के लिए तैयार है, जबकि 2021 का अधिकांश समय उन्होंने क्रिकेट से दूर रहकर अपनी सेहत पर ध्यान देने और उंगली के 2 आपरेशन से उबरने में बिताया. टेस्ट कप्तान बनाए जाने का मतलब हो सकता है कि स्टोक्स को कम वनडे और टी20 टी20 मुकाबले खेलने को मिले. रॉब ने कहा, ‘हमें ऐसा करना होगा. हमें वर्कलोड मैनेजमेंट पर ध्यान देना होगा. हमें देखना होगा कि उसे कहां खिलाए जाने की जरूरत है. इस समय प्राथमिकता टेस्ट क्रिकेट है.’

एंडरसन और ब्रॉड की होगी वापसी

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि हमें इस बारे में अधिक सोच विचार करने की जरूरत है. हमें सुनिश्चित करना होगा कि वह मानसिक रूप से अच्छी स्थिति में हो और हम फिर उसे जरूरत के हिसाब से खिला सकते हैं. स्टोक्स की नई भूमिका की घोषणा करते हुए रॉब ने कहा कि अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड भी चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे. इंग्लैंड के टेस्ट इतिहास के 2 सबसे सफल गेंदबाजों एंडरसन और ब्रॉड को विवादास्पद तरीके से हाल में वेस्टइंडीज दौरे की टीम में जगह नहीं दी गई थी.

टीम इंडिया से खेलना है एक टेस्ट

इंग्लैंड की टीम इन गर्मियों में न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलेगी और भारत के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज का अंतिम टेस्ट भी खेलेगी. जिसे पिछले साल कोविड-19 के कारण रद्द कर दिया गया था. भारत सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा है. रॉब ने 35 साल के ब्रॉड और 39 साल के एंडरसन को लेकर कहा कि इसकी घोषणा करने से पहले मैंने उन दोनों को फोन करके कहा कि मेरे हिसाब से आप दोनों चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे.

टेस्ट का कोच भी अलग होगा

उन्होंने कहा कि मैं वादा तो नहीं कर सकता कि आप खेलोगे, लेकिन आप चयन के लिए उपलब्ध रहोगे. रॉब ने कहा कि बेन स्टोक्स इसे लेकर स्पष्ट था कि उसे टीम में जिमी और ब्रॉड चाहिए. यह पूरी तरह इस पर निर्भर करेगा कि टेस्ट मैच जीतने के लिए सर्वश्रेष्ठ एकादश क्या होगी. इसके अलावा कुछ नहीं. रॉब ने कहा कि पुरुष टेस्ट और सीमित ओवरों की टीम के मार्गदर्शन के लिए जल्द ही नए मुख्य कोच नियुक्त किए जाएंगे. उन्होंने जोर देते हुए कहा कि एक ही व्यक्ति दोनों जिम्मेदारी नहीं निभा सकता.

IPL 2022: उमरान मलिक मैदान पर नहीं रहते थे अनुशासित, कोच को डांट तक लगानी पड़ी

उन्होंने कहा कि यह ऐसा काम बन गया है जिसे एक कोच द्वारा किया जाना लगभग असंभव हो गया है. टीम के लिए बनाए जाने वाले बायो बबल को हटाए जाने से खिलाड़ियों और कोचिंग स्टाफ पर से मानसिक बोझ कम होने की उम्मीद है. इससे स्टोक्स की राह आसान हो सकती है. रॉब ने कहा कि वह (स्टोक्स) अपने आस-पास के लोगों की परवाह करता है. उसे समझ है कि लोग क्यों जूझ रहे हैं. उसे समझ है कि आखिर क्यों लोग सही महसूस नहीं कर रहे. उन्होंने कहा कि इन सारी चीजों के साथ अच्छा क्रिकेट दिमाग उसे सबसे मजबूत पसंद बनाता है. स्टोक्स ने कहा कि जब वह कप्तानी संभालेंगे, तो रूट उनके महत्वपूर्ण सहयोगी बने रहेंगे.

Tags: Ben stokes, Ecb, England, Joe Root



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: