यूक्रेन ने रशियन फंड की लॉन्ड्रिंग करने वाले क्रिप्टो ट्रेडर्स पर कसा शिकंजा


पिछले कुछ महीनों से रूस के साथ युद्ध के कारण बड़ी मुश्किलों का सामना कर रहे यूक्रेन ने गैर कानूनी गतिविधियों से जुड़े क्रिप्टो ट्रेडर्स के खिलाफ कार्रवाई की है। इन ट्रेडर्स पर रूस के फंड की लॉन्ड्रिंग करने का आरोप है। यूक्रेन की अथॉरिटीज ने लगभग 33 लाख डॉलर की ऐसी प्रॉपर्टी जब्त करने का दावा किया है जिसे क्रिप्टोकरेंसीज में लगाया जाना था। 

यूक्रेन के प्रॉसिक्यूटर जनरल के ऑफिस के अनुसार, ये क्रिप्टो ट्रेडर्स रूस के नागरिकों की नकदी और अन्य एसेट्स को क्रिप्टोकरेंसीज में कन्वर्ट कर रहे थे। इनके खिलाफ यूक्रेन में आपराधिक मामला चलाया जाएगा। इन ट्रेडर्स से नकदी के अलावा प्लॉट जैसे एसेट्स भी जब्त किए गए हैं। इन पर टैक्स की चोरी, अपराध से प्राप्त की गई प्रॉपर्टी की लॉन्ड्रिंग और जालसाजी में शामिल होने के आरोप लगाए गए हैं। 

युद्ध के कारण अमेरिका सहित बहुत से देशों ने रूस पर कड़े प्रतिबंध लगाए थे। इस वजह से रूस के लिए विदेश से फंड प्राप्त करना मुश्किल हो गया है। यूक्रेन के प्रेसिडेंट Volodymyr Zelenskyy ने फंड जुटाने के लिए मार्च में एक वर्चुअल एसेट्स बिल पर हस्ताक्षर किए थे। इससे यूक्रेन में क्रिप्टोकरेंसीज को कानूनी दर्जा मिल गया है। यूक्रेन में क्रिप्टो एक्सचेंजों और डिजिटल एसेट्स से जुड़ी फर्मों को बिजनेस करने के लिए सरकार के पास रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रूस के बहुत से कारोबारी प्रतिबंधों से बचने के लिए मनी लॉन्ड्रिंग जैसे गैर कानूनी तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं। 

रूस के सेंट्रल बैंक (CBR) ने प्रतिबंधों के कारण डिजिटल रूबल के ट्रायल की स्पीड बढ़ाने का फैसला किया है। CBR ने पहले डिजिटल रूबल को 2024 में लॉन्च करने की योजना बनाई थी लेकिन अब इसे अगले वर्ष लॉन्च करने की तैयारी की जा रही है। डिजिटल रूबल का ट्रायल वास्तविक क्लाइंट्स के साथ स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स के इस्तेमाल से शुरू किया जाएगा। CBR की वाइस प्रेसिडेंट Olga Skorobogátova ने डिजिटल रूबल का ट्रायल तेज करने की घोषणा की थी। ट्रायल में स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स की टेस्टिंग भी शामिल होगी। स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स ऐसे कोड में लिखे कंप्यूटर प्रोग्राम होते हैं जिनसे पार्टीज के बीच सहमति वाली शर्तों के इंटरमीडियरीज के बिना ऑटोमैटिक कम्प्लायंस की अनुमति मिलती है। CBR ने बताया था कि उसने बैंकों के साथ मिलकर बनाए गए डिजिटल रूबल के प्रोटोटाइप की टेस्टिंग शुरू कर दी है। टेस्टिंग में बैंक के कस्टमर्स के लिए डिजिटल वॉलेट्स खोलना और यूजर्स के लिए ट्रांसफर शामिल है। 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: