Battlegrounds Mobile India गेम भारत में करेगा वापसी, TikTok फैंस को भी मिलेगी खुशखबरी!


बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया (BGMI) ने 1 जुलाई को अपनी पहली सालगिराह के रूप में दावा किया था कि गेम ने देश में 100 मिलियन से अधिक रजिस्टर्ड यूजर्स हासिल कर लिए हैं। हालांकि, बाद में जुलाई में एक सरकारी आदेश के बाद गेम को Google Play और Apple App Store से हटा दिया गया। अब, Skyesports के सीईओ और संस्थापक शिव नंदी ने दावा किया है कि यह बैन अस्थायी था। उन्होंने कहा कि डेवलपर krafton को सरकार द्वारा एक हफ्ते पहले अधिसूचित किया गया था।

MySmartPrice की एक रिपोर्ट के अनुसार, नंदी ने इंस्टाग्राम के जरिए एक बयान साझा करते हुए खुलासा किया है कि BGMI को हटाने का प्लान पांच महीने से बन रहा था। प्रतिबंध प्रभावी होने से एक सप्ताह पहले सरकार द्वारा क्राफ्टॉन को कथित तौर पर अधिसूचित किया गया था।

उन्होंने BGMI के फैंस को यह भी आश्वासन दिया कि सरकार ने गेम को बैन करने के लिए एक अंतरिम आदेश पारित किया है – BGMI को अभी भारत में पूरी तरह से बैन नहीं किया गया है। नंदी ने यह भी संकेत दिया कि TikTok भी जल्द ही भारत में वापसी करने की राह पर है। भारत में TikTok को जून 2020 में बैन किया गया था।

BGMI को दक्षिण कोरियाई स्टूडियो Krafton द्वारा विकसित किया गया है, जो चीन के Tencent Games द्वारा समर्थित है। चीनी सर्वर पर यूजर डेटा भेजने के लिए कथित तौर पर भारत सरकार द्वारा गेम को बैन कर दिया गया था। Google Play और App Store से इसका गायब होना फैंस के लिए बेहद बुरी खबर थी, जिसमें ईस्पोर्ट्स समुदाय को भी बहुत निराश किया था। हालांकि, Krafton का New State Mobile अभी भी दोनों ऐप स्टोर पर उपलब्ध है।

जुलाई 2021 में लॉन्च होने के एक साल बाद से, BGMI ने भारत में बड़े पैमाने पर अपनी पकड़ बनाई है। इसने कथित तौर पर देश में 100 मिलियन से अधिक रजिस्टर्ड यूजर्स हासिल किया हैं। इसने कंटेंट क्रिएटर्स के बीच लोकप्रियता हासिल की है। क्राफ्टॉन ने कथित तौर पर भारत में चार पेशेवर और अर्ध-पेशेवर बीजीएमआई टूर्नामेंट की मेजबानी करने की योजना बनाई थी। माना जा रहा है कि डेवलपर ने स्थानीय गेमिंग और निर्यात उद्योगों को विकसित करने के लिए लगभग 10 मिलियन डॉलर (लगभग 80 करोड़ रुपये) का निवेश भी किया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: