IPL 2022, No ball Controversy: …तो ऋषभ पंत हो जाते एक मैच के लिए बैन? कोच ने कुर्बानी देकर बचाया!


नई दिल्ली. राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच हुए मुकाबले में नो-बॉल को लेकर हुए विवाद का खामियाजा दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत, टीम के असिस्टेंट कोच प्रवीण आमरे और शार्दुल ठाकुर को उठाना पड़ा. पंत और शार्दुल पर जुर्माना लगाया गया है, तो वहीं आमरे को एक मैच के लिए बैन कर दिया गया. विवाद के दौरान प्रवीण आमरे मैदान में घुस गए थे और अंपायर से बहस करने लगे थे. अब इसे लेकर जानकारी सामने आई है कि वो शुरू में मैदान में नहीं जाना चाह रहे थे और उन्होंने कप्तान पंत को शांत कराने की भी कोशिश की थी. लेकिन पंत माने नहीं. इसके बाद आमरे को मैदान में जाना पड़ा.

दिल्ली कैपिटल्स से जुड़े एक सूत्र ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि नो-बॉल विवाद के बाद पंत ने टीम के असिस्टेंट कोच से कहा था, “सर आप मैदान में जाकर अंपायर से बात करेंगे या मैं जाऊं?” उस वक्त, आमरे को लगा कि कप्तान का मैदान पर जाना सही फैसला नहीं होगा. इसी वजह से आमरे मैदान पर गए और इस विवाद को लेकर अंपायर से बात की. अगर आमरे की जगह पंत मैदान पर गए तो शायद आमरे को जो एक सजा मिली है, वो पंत को मिलती.

पंत पर जुर्माना, आमरे एक मैच के लिए बैन
इस नो-बॉल विवाद पर आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने कड़ा एक्शन लिया. पंत पर मैच फीस का 100 फीसदी जुर्माना लगाया गया, जोकि 1 करोड़ रुपये के करीब है. वहीं, शार्दुल ठाकुर पर मैच फीस का 50 फीसदी जुर्माना ठोका गया, जबकि असिस्टेंट कोच आमरे को इस हरकत के लिए एक मैच के लिए बैन कर दिया गया.

पंत ने अपनी गलती मानी थी
मैच के बाद प्रवीण आमरे को मैदान पर भेजने के बारे में पूछे जाने पर पंत ने कहा था, “जाहिर तौर पर यह फैसला सही नहीं था. लेकिन हमारे साथ भी जो हुआ, वो भी सही नहीं था. यह बस हो गया, हम इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं कर सकते.”

वॉटसन ने पंत को समझाइश दी थी
टीम के दूसरे असिस्टेंट कोच शेन वॉटसन ने कप्तान पंत और टीम की इस हरकत पर नाखुशी जताई थी. उन्होंने कहा था, ‘देखिए, उस आखिरी ओवर में जो कुछ हुआ, वह बहुत निराशाजनक था. मैदान पर जो हुआ, उसका दिल्ली कैपिटल्स समर्थन नहीं करती. अंपायर का फैसला सही है या नहीं, हमें स्वीकार करना होगा और कोई अंपायर के फैसले के खिलाफ मैदान पर चला जाए, इसे हम कतई स्वीकार नहीं करेंगे. इसे सही नहीं ठहराया जा सकता.

IPL 2022 EXPLAINER: ऋषभ पंत की सैलरी में करोड़ों की कटौती, एक नियम बना वजह, यहां पढ़ें पूरी कहानी

IPL 2022, No Ball Controversy: आखिर क्‍यों इतने बवाल के बावजूद थर्ड अंपायर के पास नहीं भेजा गया मामला?

क्या था पूरा विवाद?
राजस्थान के खिलाफ मुकाबले में 223 रन के टारगेट का पीछा करते हुए दिल्ली टीम को आखिरी ओवर में जीत के लिए 36 रनों की दरकार थी. तभी ओबेड मैकॉय के ओवर की शुरुआती 3 बॉल पर रोवमैन पॉवेल ने तीन छक्के जमा दिए. यहीं, तीसरी बॉल का डगआउट में बैठे ऋषभ पंत ने विरोध करते हुए इसे कमर से ऊपर वाली नो-बॉल बताया, जबकि अंपायर ने इसे नो-बॉल नहीं करार दिया. इससे पंत बिफर गए और अपने बल्लेबाजों को मैदान से वापस बुलाने का इशारा कर दिया था. जब इससे बात नहीं बनी तो उन्होंने असिस्टेंट कोच प्रवीण आमरे को मैदान पर भेज दिया.

Tags: Delhi Capitals, IPL 2022, Rishabh Pant, RR vs DC, Shane Watson



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: