Meme क्रिप्टोकरेंसी क्या है, निवेश कितना भरोसेमंद, क्या है भविष्य? जानें सब कुछ!


क्रिप्टोकरेंसी का नाम आते ही विचार में सबसे पहले Bitcoin और Ethereum आते हैं। क्रिप्टोकरेंसी की मार्केट बहुत बड़ी है और यहां पर हजारों की संख्या में डिजिटल करेंसी मौजूद हैं। इनमें एक पॉपुलर शब्द मीम क्रिप्टोकरेंसी भी है। मीम आधारित क्रिप्टोकरेंसी ने बीते वर्षों में बहुत अधिक लोकप्रियता हासिल कर ली है। जैसा कि नाम से पता चलता है, ये मीम आधारित क्रिप्टोकरेंसी होती हैं, जिनमें फोटो, वीडियो या दूसरी मीडिया के रूप में मजेदार मीम इस्तेमाल किए जाते हैं। Dogecoin और Shiba Inu वर्तमान में सबसे अधिक लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी हैं। इन कॉइन्स को एक मजाक के रूप में शुरू किया गया था। लेकिन, 2021 में डॉजकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी की कीमत तेजी से बढ़ी और यह कई गुना हो गई। 
 

क्या मीम टोकनों को गंभीरता से लेना चाहिए?

मीम क्रिप्टोकरेंसी की सप्लाई असीमित होती है और इनकी अपील पॉप कल्चर पर आधारित होती है। ये प्रकृति में काफी अस्थिर होती हैं और रिस्क में रहती हैं। इनकी कीमतों में बड़े उतार चढ़ाव आने की संभावना ज्यादा होती है। Doge मीम को Shiba Inu (कुत्ते की नस्ल) की वायरल फोटो के बाद बनाया गया था। देखा जाए तो, मीम क्रिप्टोकरेंसी को गंभीरता से नहीं लिया जाता है। इनकी कीमतें तब बढ़ती है जब कम्यूनिटी के मेंबर कॉइन को खरीदते हैं ताकि वो इस मजाक का हिस्सा बन सकें। 
 

मीम कॉइन कैसे पॉपुलर होते हैं?

जब कोई कॉइन पॉपुलर होता है, इसकी कीमत बढ़ती है। ऐसे में आम निवेशक इसमें शामिल होते हैं जिससे कीमत को और अधिक बढ़ावा मिलता है। इंटरनेट पर प्रसिद्ध लोग और सेलिब्रिटी भी इनकी कीमत में बढ़ोत्तरी का कारण बनते हैं। Tesla और SpaceX के सीईओ एलन मस्क इसका सबसे बड़ा उदाहरण हैं जो डॉजकॉइन सपोर्टर के रूप में जाने जाते हैं। यहां तक कि मस्क के कुत्ते के नाम से प्रेरित एक कॉइन Floki Inu भी बनाया गया है जो कि डॉजकॉइन का ही एक वेरिएंट है। 

कुछ मीम कॉइन केवल मजाक के लिए ही बनाए जाते हैं। Mongoose Coin को दिसंबर 2021 में बनाया गया था। इसे डिजिटल करेंसी पर चर्चा के दौरान कॉन्ग्रेस के एक सदस्य ने नाम दिया था। मीम कॉइन्स में सप्लाई अक्सर असीमित होती है। बिटकॉइन के उलट, जिसे केवल सीमित यूनिट्स की सप्लाई के लिए डिजाइन किया गया है, मीम कॉइन्स के मामले में अरबों कॉइन यूनिट्स सर्कुलेशन में होते हैं। 
 

मीम कॉइन्स में निवेश करना कितना सुरक्षित?

जैसा कि पहले बताया गया है, कम्यूनिटी की भावना और बाहरी प्रभावों से ये प्रभावित होते हैं। उदाहरण के लिए सेलिब्रिटी के ट्वीट्स आदि का भी इनकी कीमतों पर असर पड़ता है, जिसके कारण इनकी कीमतों में अस्थिरता अधिक देखी जाती है। डॉजकॉइन की तरह एकदम से इनकी कीमत आसमान भी छू सकती है और उसके उलट इनमें गिरावट भी उतनी ही तेजी से आ जाती है। इसलिए मीम कॉइन्स में निवेश करना बहुत अधिक भरोसेमंद नहीं कहा जा सकता है। 
 

मीम कॉइन्स का भविष्य क्या है?

2021 में मीम कॉइन्स की कीमतों में जबरदस्त इजाफा हुआ। लेकिन, उसके बाद इनकी कीमतें लगातार नीचे आ रही हैं। लेकिन, ये भी नहीं कहा जा सकता कि इससे इनका भविष्य तय हो जाता है और ये अंधेरे की ओर बढ़ रहे हैं। हां, लेकिन इतना जरूर है कि बिटकॉइन और इथेरियम की तरह इनकी कीमतों में उस हद तक इजाफा कभी नहीं देखा जा सकेगा। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: