Xiaomi 12 Pro Review: सही कीमत में प्रीमियम फ्लैगशिप


Xiaomi का Mi 11 Ultra (Review) केवल बड़े आंकड़ों और डींगों के साथ पेश किया गया था, लेकिन फिर भी कुछ कमियों के साथ फोन अच्छा एंड्रॉयड एक्सपीरियंस देने में कामयाब रहा। Xiaomi 12 Pro के रूप में कंपनी ने 2022 का अपना इस साल का सबसे प्रीमियम हैंडसेट पेश किया है। स्पेसिफिकेशंस के लिए बड़े आंकड़े दिखाने की बजाए कंपनी ने फोन को टिकाऊ बनाने की कोशिश की है, साथ ही प्राइस के हिसाब से इसमें फीचर्स भी देने की कोशिश की है। इसका क्वाड स्पीकर सेटअप काफी यूनीक है और भारत में फ्लैगशिप फोन्स में ऐसा सेटअप नहीं देखा जाता है। 

Mi 11 Ultra से तुलना में Xiaomi 12 Pro कीमत में भी कम है, क्योंकि शायद ये उस फोन का सीधा रिप्लेसमेंट नहीं है। अफवाह है कि इससे भी ज्यादा प्रीमियम डिवाइस, 12 Ultra के नाम से मार्केट में आ सकती है जिसमें अधिक तेज Qualcomm Snapdragon 8 Gen 1+ SoC होगा। फिलहाल, Xiaomi 12 Pro को मैंने एक हफ्ते तक इस्तेमाल किया और पाया कि यह फोन वाकई में काफी अच्छा है। लेकिन, क्या यह OnePlus और iQoo के फ्लैगशिप फोन्स से बेहतर है?
 

Xiaomi 12 Pro price in India

Xiaomi 12 Pro का 8GB RAM + 256GB स्टोरेज मॉडल 62,999 रुपये में आता है। इसका 12GB RAM + 256GB स्टोरेज मॉडल 66,999 रुपये में उपलब्ध है। मेरे पास रिव्यू के लिए इसका 12GB रैम वेरिएंट था। फोन तीन फिनिश में आता है, जिसमें कॉचर ब्लू, नॉइर ब्लैक और ओपेरा मॉव शामिल हैं। 
 

Xiaomi 12 Pro design

Xiaomi 12 Pro काफी ग्लॉसी और प्रीमियम दिखता है। फोन की राइट और लेफ्ट साइड पर, जहां फ्रंट और बैक ग्लास आपस में मिलते हैं, यह काफी पतला है। फ्रेम और रियर Corning Gorilla Glass 5 पैनल मैटे फिनिश के साथ आते हैं जिससे फोन काफी चिकना हो जाता है। पीछे का कैमरा मॉड्यूल मैटल का बना है और मॉडर्न दिखता है। मॉड्यूल से सेंसर्स को कुछ बारीक लाइनें अलग करती हैं। मैटल फ्रेम में पोर्ट और कटआउट अच्छी तरह से तराशे गए हैं, जिनमें नुकीले कोने आदि नहीं दिखते हैं। 

Xiaomi

Xiaomi 12 Pro एक टॉप एंड स्मार्टफोन है, फिर भी इसमें धूल और पानी से बचाव के लिए कोई आईपी रेटिंग नहीं दी गई है। गैजेट्स 360 ने कंपनी से कन्फर्म किया कि आईपी रेटिंग की तुलना में इसमें सभी जरूरी सील दी गई हैं जो IP53 रेटिंग के बराबर हैं। फिर भी, यह कम लगता है क्योंकि इस प्राइस पर फोन में आईपी रेटिंग की उम्मीद की जाती है, कम से कम IP68 रेटिंग तो होनी ही चाहिए। कीमत पर बचत करने के लिए कंपनियां आजकल ऐसा करने लगी हैं। Redmi Note 11S (Review) जैसे बजट फोन को देखें तो उसमें भी IP53 रेटिंग मिल जाती है। 

फोन में 6.73 इंच AMOLED डिस्प्ले है जिसमें Corning’s Gorilla Glass Victus का प्रोटेक्शन दिया गया है। इस पर फिंगरप्रिंट आसानी से नहीं पड़ते हैं। टॉप और बॉटम पर स्पीकर ग्रिल दिए गए हैं और टॉप पर एक इन्फ्रारेड एमिटर भी लगा है। 
 

Xiaomi 12 Pro specifications and software

Xiaomi 12 Pro में Qualcomm Snapdragon 8 Gen 1 SoC दिया गया है। इंटरनल स्टोरेज एक्सपेंडेबल नहीं है। फोन में दो नैनो सिम इस्तेमाल की जा सकती हैं। फोन डुअल 5G स्टैंडबाय को सपोर्ट करता है। कनेक्टिविटी के लिए Wi-Fi 6E, Bluetooth 5.2, NFC और मल्टीपल सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम इसमें मिल जाता है। 

डिस्प्ले का रिफ्रेश रेट 120Hz और टच सैम्पलिंग रेट 480Hz है।  यह LTPO 2.0 को सपोर्ट करता है जिससे रिफ्रेश रेट पावर सेव करने के लिए 1Hz तक नीचे आ जाता है। फोन में एम्बेडेड फिंगरप्रिंट स्कैनर दिया गया है। डिस्प्ले का रेजोल्य़ूशन WQHD+ (3200 x 1400 पिक्सल) है जिसमें 522ppi पिक्सल डेंसिटी है। 

Xiaomi

फोन 4,600mAh बैटरी और बॉक्स में 120W चार्जर के साथ आता है। इसके अलावा, इसमें 50W वायरलेस चार्जिंग का सपोर्ट है और 10W रिवर्स वायरलेस चार्जिंग भी है। 

Xiaomi 12 Pro, Android 12 आधारित Xiaomi MIUI 13 पर रन करता है। फोन में नए विजेट्स, परमिशन मैनेजर और प्राइवेसी डैशबोर्ड जैसे फीचर्स दिए गए हैं। MIUI 13 में आमतौर पर मिलने वाला ब्लॉटवेयर है, जिसमें Xiaomi ऐप्स और कुछ थर्ड पार्टी ऐप्स हैं। GetApps स्टोर से मुझे लगातार ऐप्स को अपडेट करने के नोटिफिकेशन मिलते रहे। 

विजेट्स के लिए इंटरफेस अब अलग दिखता है और ये पूरी स्क्रीन पर दिखता है। लम्बे प्रेस के द्वारा विजेट को होम स्क्रीन पर ऐड किया जा सकता है, जिसके बाद बॉटम में वॉलपेपर, विजेट और होम स्क्रीन सेटिंग के लिए तीन ऑप्शन मिलते हैं। विजेट्स को री-साइज करना काफी अटपटा सा है क्योंकि इसके लिए विजेट को हल्का सा खिसकाना पड़ता है, जिससे एक स्टेप बढ़ जाता है। दूसरे मेन्युफैक्चरर्स की तरह कंपनी ने थीम इंजन दिया है जो इंटरफेस, विजेट्स, और कीबोर्ड के कलर को वॉलपेपर के कलर के आधार पर बदल देता है। 
 

Xiaomi 12 Pro performance

Xiaomi 12 Pro ने बेंचमार्क टेस्ट में उम्मीद के मुताबिक परफॉर्म किया। फोन ने AnTuTu में 9,82,727 पॉइंट्स और गीकबेंच के सिंगल और मल्टी-कोर टेस्ट में क्रमशः 1,237 और 3,654 पॉइंट्स स्कोर किए, जो मार्केट कंपीटिशन के बराबर बैठता है। डेली यूसेज के साथ फोन ने स्मूद परफॉर्म किया।  

Xiaomi

डिस्प्ले, आउटडोर में काफी ब्राइट दिखता है और ‘ओरिजनल कलर’ मोड में एकदम सटीक रंग दिखाता है। सेटिंग ऐप में एक ‘एडेप्टिव कलर्स’ टॉगल भी दिया गया है जो एम्बिएंट लाइट के आधार पर डिस्प्ले के कलर्स को एडजस्ट करता है। डिस्प्ले पर कंटेंट शार्प दिखता है, जो डॉल्बी विजन और एचडीआर10+ सर्टिफाइड भी है। नेटफ्लिक्स पर सपोर्टेड कंटेंट अच्छा दिखा। एमेजॉन प्राइम वीडियो पर स्ट्रीम किए गए एचडीआर वीडियो थोड़े डिम लग रहे थे। डॉल्बी विजन एचडीआर सपोर्ट वैसा नहीं है जो हम कई एंड्रॉयड फोन पर देखते हैं।

इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट रीडर, फोन को अनलॉक करने के लिए तेज और भरोसेमंद है। टेस्ट के दौरान अलग अलग तरह के कंटेंट के दौरान Xiaomi 12 Pro का स्क्रीन रिफ्रेश रेट उम्मीद के मुताबिक बदल रहा था। यह आम तौर पर गेम खेलते समय 60Hz, ऐप्स या इंटरफ़ेस में फ़ीड पर स्क्रॉल करते समय 120Hz पर चल रहा था। जब मैं कोई एक्टिविटी नहीं कर रहा था तो यह 10Hz पर लॉक रहता था। मुझे उम्मीद थी कि किंडल ऐप का इस्तेमाल करते समय रिफ्रेश रेट 1Hz तक गिर जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

Xiaomi 12 Pro पर मेरा गेमिंग एक्सपीरियंस काफी अच्छा था। लंबे समय तक गेम खेलने के दौरान फोन गर्म हो गया, लेकिन परफॉर्मेंस कम नहीं हुई। मैंने Call of Duty: Mobile प्ले किया जो सबसे ऊंची सेटिंग्स पर स्मूद चल रहा था। Asphalt 9: Legends लगभग कंसोल की तरह प्ले हो रहा था और डिफ़ॉल्ट रूप से 60fps पर चल रहा था, लेकिन फोन थोड़ी देर बाद गर्म हो गया। फोन के गेम स्पेस ऐप में फेरबदल करने के बाद टच सैंपलिंग रेट ऑन मिला।

Xiaomi ने 12 Pro के नए क्वाड-स्पीकर सेटअप के साथ इमर्सिव साउंड देने का उम्दा काम किया है। स्पीकर्स को Harman Kardon ने ट्यून किया है और आपको फोन के हर सिरे पर एक ट्वीटर और एक वूफर मिलता है। ऑडियो क्वालिटी कमाल की थी क्योंकि चारों स्पीकर बेस और मिड-रेंज पर फोकस करते हुए बैलेंस्ड साउंड दे रहे थे। फोन कई Dolby Atmos ऑडियो प्रीसेट और इक्वलाइज़र को सपोर्ट करता है ताकि आप अपनी पसंद का साउंड इससे पा सकें। 

फोन के स्पीकर बहुत अच्छे हैं, लेकिन फोन के ऊपर स्पीकर ग्रिल का प्लेसमेंट काफी अजीब लगा। यह फ्रेम के बॉटम लेफ्ट कोने में हैं जो गेम खेलते समय एक समस्या बनता है, क्योंकि फोन को हॉरिजॉन्टल पकड़ने पर स्‍पीकर हाथ से कवर हो जाते हैं और साउंड दब जाता है। बॉटम ग्रिल भी डायग्नल हिसाब से उल्टी तरफ पड़ती है। इसलिए चाहे आप किसी भी तरह से फोन को हॉरिजॉन्टली पकड़ें, एक ग्रिल ब्लॉक हो ही जाता है। 

Xiaomi

Xiaomi 12 Pro की बैटरी लाइफ काफी अच्छी साबित हुई। हालांकि एचडी वीडियो लूप टेस्ट में बहुत अच्छा बैकअप इसने नहीं दिया। यह इसमें 12 घंटे और 18 मिनट तक चली। मेरे रेगुलर यूसेज के साथ फोन आसानी से डेढ़ दिन तक चला, जिसमें एक घंटे का गेमिंग और थोड़ा कैमरा इस्तेमाल और वीडियो स्ट्रीमिंग शामिल थे। 120W चार्जर ने बूस्ट मोड का उपयोग करते हुए केवल 27 मिनट में 12 प्रो को पूरी तरह से चार्ज कर दिया। इस मोड में चार्ज करने पर फोन गर्म हो जाता है, और यह आपको अलर्ट करने के लिए स्क्रीन पर एक नोटिफिकेशन भी दिखाता है कि ऐसा होगा और यह सामान्य बात है।
 

Xiaomi 12 Pro cameras

Xiaomi 12 Pro में तीन रियर-फेसिंग कैमरा दिए गए हैं और सभी में 50 मेगापिक्सल रेज़ॉल्यूशन है। प्राइमरी कैमरे में OIS है, अल्ट्रा-वाइड-एंगल कैमरा में 115-डिग्री फील्ड ऑफ व्यू है, और टेलीफोटो कैमरा 2X ऑप्टिकल ज़ूम (48 mm) के साथ आता है। सेल्फी के लिए फ्रंट-फेसिंग 32-मेगापिक्सेल कैमरा दिया गया है। प्राइमरी कैमरा सोनी के नए 1/1.28-इंच IMX707 सेंसर से लैस है। यह सोनी IMX766 (1/1.56-इंच) सेंसर से काफी बड़ा है, जिसे हमने 2022 के कई एंड्रॉयड फ्लैगशिप में देखा है।

Xiaomi

अगर आपने हाल ही में शाओमी का कोई फोन इस्तेमाल किया है तो कैमरा ऐप आसानी से समझ में आ जाती है। फोन अपने मेन और टेलीफोटो कैमरा के साथ 4K 30fps तक HDR वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है। वहीं, HDR10+ वीडियो केवल मेन और सेल्फी कैमरा से ही रिकॉर्ड किए जा सकते हैं। प्राइमरी कैमरा 8K 24fps तक वीडियो शूट कर सकता है।

Xiaomi 12 Pro में कुछ “प्रो” फीचर्स भी हैं जो काफी काम के हैं। यह पावर सेविंग के लिए स्क्रीन को बंद करके वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है। इसमें एक लाइव इन-ईयर मॉनिटर फीचर भी है जिसका इस्तेमाल आप रिकॉर्ड किए जा रहे साउंड को सुनने के लिए कर सकते हैं। Pro Video मोड आपको Log format (फ्लैट कलर प्रोफाइल) में वीडियो शूट करने की सुविधा देता है ताकि पोस्ट-प्रोडक्शन में इसे कलर ग्रेडेड किया जा सके। फोकस पीकिंग और एक्सपोजर वेरिफिकेशन प्रोफेशनल्स के लिए काम का हो सकता है।

img
img
img

प्राइमरी कैमरा से दिन की रोशनी में ली गई फोटो में काफी डिटेल और अच्छी डायनेमिक रेंज थी। टेलीफोटो कैमरा अधिकतर सब्जेक्ट के डिटेल वाले क्लोज शॉट ले रहा था, ऑटो या पोर्ट्रेट मोड का में भी फोटो शार्प और डिटेल्ड थीं। पोट्रेट मोड में एज डिटेक्शन भी बहुत अच्छा था। अगर आप सब्जेक्ट की सही प्लेसमेंट कर पाते हैं तो प्राइमरी कैमरा का बड़ा सेंसर एक सॉफ्ट, नेचरल बैकग्राउंड ब्लर आपको देता है जो केवल DSLR से ही मिल पाता है। स्किन टोन और बेहतर हो सकती थी, जो कि काफी लाल दिखती है। 

अल्ट्रा वाइड कैमरा लैंड्सकेप अच्छे से शूट करता है और डिटेल्स भी काफी मिलती हैं। हालांकि, यह प्राइमरी कैमरा जितना अच्छा नहीं है। बैरल डिस्टॉर्शन को सही करने के लिए सॉफ्टवेयर करेक्शन अच्छा काम करता है लेकिन चीजें ऐज की तरफ खिंची हुई सी दिखती हैं। मेन कैमरा और अल्ट्रावाइड कैमरा की फोटो में अंतर आसानी से पता किया जा सकता है। 

iQoo 9 Pro (Review) की तरह Xiaomi 12 Pro में अल्ट्रा वाइड कैमरा में ऑटोफोकस नहीं मिलता है, जिसका मतलब है कि यह मैक्रो कैमरा की तरह काम नहीं कर सकता है। प्राइमरी और टेलीफोटो कैमरा की मदद से मैंने कुछ अच्छे क्लॉज-अप शॉट्स लिए। 

img
img
img

लो-लाइट में ऑटो मोड, एक्पोजर के लिए थोड़ा ज्यादा टाइम लेता है जैसा कि Xiaomi 11T Pro में देखा गया। लेकिन, इसने प्राइमरी कैमरा के साथ लो-लाइट में अच्छे शॉट्स लिए। अल्ट्रावाइड और टेलीफोटो कैमरा ने भी ठीक-ठाक रिजल्ट दिए। नाइट मोड में नॉइज थोड़ा कम हो गया और फोटो क्लियर आईं। 

लो-लाइट में प्राइमरी कैमरा ने कलर्स के अलावा डिटेल और डाइनेमिक रेंज में भी कमाल काम किया। नॉइज कम करने के अलावा अल्ट्रावाइड के लिए यह उतना अच्छा काम नहीं कर पाया। लो-लाइट में टेलीफोटो कैमरा को फोकस करने में दिक्कत हुई। फोटो काफी ब्लर और सॉफ्ट थीं।  

सेल्फी कैमरा ने डे-लाइट में अच्छा काम किया। लेकिन, अधिक रोशनी वाली जगहों पर पोट्रेट मोड में बैकग्राउंड अधिक चमकीला हो गया। लो-लाइट में फोटो क्वालिटी औसत रही। 

वीडियो की बात करें तो, सभी तरह के रेजॉल्य़ूशन में कैमरा ने अच्छा परफॉर्म किया। स्टेबलाइजेशन अच्छी है, ऑटोफोकस भी अच्छा है और पैनिंग के दौरान भी एक्सपोजर मेंटेन रहता है। हालांकि मैंने वीडियो फुटेज में दिन के समय कुछ पीलापन सा महसूस किया और एक्पोजर थोड़ा ज्यादा लगा। एचडीआर मोड अधिक रोशनी वाली जगहों पर एक्सपोजर को सही कर रहा था और छाया वाली जगह में अंधेरा पैदा कर रहा था। कुल मिलाकर आउटपुट अधिक रियल नहीं लग रही थी।  

एचडीआर 10 प्लस वीडियो काफी बेहतर आए। कलर रिच दिखे और डायनेमिक रेंज भी बेहतर थी। लेकिन ये बिना HDR10+ वाले डिस्प्ले पर इतने अच्छे नहीं दिखेंगे। मोशन ट्रैकिंग, आई ट्रैकिंग और मोशन कैप्चर फोकस ने उम्मीद के मुताबिक काम किया। आउटडोर में वीडियो शूट करते समय फोन काफी गर्म हो जाता है, लेकिन कैमरा ऐप ने कभी रिकॉर्डिंग में रुकावट नहीं आने दी। लो लाइट में फोन अच्छी क्वालिटी के वीडियो कैप्चर कर लेता है, जिनमें नॉइज कम और डाइनेमिक रेंज अच्छी होती है। 
 

Verdict

Xiaomi 12 Pro के साथ कंपनी ने परफॉर्मेंस और क्वालिटी पर फोकस किया है। रियर कैमरा के मामले में फोन अभी भी कुछ सुधार की गुंजाइश रखता है, जो मुझे लगता है कि सॉफ्टवेयर अपडेट के साथ ठीक हो जाएगा। इसके अतिरिक्त, इसकी इमेज क्वालिटी और वीडियो क्वालिटी काफी अच्छी है जो फोन को प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में मजबूत दावेदार बनाते हैं। 62,999 रुपये की शुरुआती कीमत में फोन काफी अच्छी वैल्यू देता है। इसमें केवल IP रेटिंग की कमी है। 

जिन्हें हैवी स्किन वाला एंड्रॉयड ओएस नहीं चाहिए वे Moto Edge 30 Pro देख सकते हैं जो इससे कम कीमत (49,999 रुपये) में आता है। iQoo 9 Pro भी अच्छा विकल्प है जिसमें यूनीक डिजाइन है और अच्छा गिम्बल कैमरा सिस्टम है। इसके अलावा, OnePlus 10 Pro (Review) है जिसमें अच्छा कैमरा सिस्टम है, बड़ी बैटरी है लेकिन चार्जिंग स्लो है। अगर आपको वायरलेस चार्जिंग की जरूरत नहीं है तो आप Realme GT 2 Pro (Review) देख सकते हैं जो 49,999 रुपये में आता है। इसमें Xiaomi 12 Pro जैसा कोर हार्डवेयर है और खास तरह का माइक्रो लेंस भी है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: